(PMKSY) प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन, पात्रता | कृषि सिंचाई योजना की जानकारी हिंदी में

By | August 19, 2021

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लाभ:- प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना का शुभारम्भ केंद्र सरकार के द्वारा साल 2015 में नरेन्द्र मोदी सरकार के शासन काल में आने के बाद हुआ था जिसका लक्ष्य है देश के सभी किसानो के खेतो में सिंचाई के लिए पर्याप्त रूप से जल की आपूर्ति करना जिससे के देश के कृषि व्यवस्था में सुधार लाया जा सके | देश के प्रधानमंत्री जी ने देश के किसानो के कल्याण के लिए इस योजना के द्वारा लगभग पचास हजार करोड़ का बजट पास करवाया है ताकि देश के हर अन्नदाता को इस योजना का लाभ मिल सके | हमने नीचे यहाँ इस जानकारी के बारे में विस्तार से समझाने की कोशिश की है कृपया पूरे आर्टिकल पढ़े.

Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana

Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

इस योजना के माध्यम से किसानो को सिचाई के लिए पानी और साथ ही नए तकनीक युक्त कृषि यंत्रो की खरीद के लिए सब्सिडी प्रदान की जायेगी ताकि किसान को नए उपकरण खरीदने के लिए किसी साहूकार से मोटे ब्याज पर ऋण ना लेना पड़े |

योजना के जरिया सरकार जो नए तकनीक वाले उपकरण किसानो को उपलब्ध करवाएगी वो किसानो के लिए एकदम न नए होने इसलिए ऐसे उपकरणों के सही इस्तेमाल के लिए सरकार किसानो को 10 दिन का कौशल प्रशिक्षण भी उपलब्ध करवाएगी जो कि किसानो के लिए काफी हितकारी सिद्ध होगा और बेहतर सिचाई व कृषि उत्पादन में किसानो को इससे काफी मदद मिलेगी |

नए उपकरणों के उपयोग से किसानो के पानी की खपत में भी कमी आएगी और नव तकनीकी युक्त कृषि यंत्रो के उपयोग से किसानो के उत्पादन में वृद्धि देखने को मिलेगी |

पीएम सिंचाई योजना के क्रियान्वयन से पानी, सिचाई और मजदूरों के श्रम और कृषि में लगने वाले खर्च आदि सभी में बचत मिलेगी जिससे किसान को आर्थिक संबल मिलेगा |

हर साल किसानो को अपने फसल के उत्पादन के लिए बारिश से होने वाले पानी पर ही निर्भर रहना पड़ता है और मानसून के भरोसे कई बार किसानो की बोई हुई फसले पड़ी पड़ी ख़राब हो जाती है लेकिन अब इस योजना के आ जाने से किसान को पानी की किल्लत के बारे में चिंता करने की कोई जरुरत नहीं रहेगी

कृषि सिंचाई योजना के लिए जरुरी पात्रता व शर्ते

इस योजना के लिए आवेदन करने हेतु किसानो को कुछ जरुरी शर्तो व मापदंडो का पालन करना होगा जिसके बाद ही इस योजना के लिए आवेदन किया जा सकता है

जो कोई भी किसान भाई इस योजना का लाभ लेना चाहता है उनके पास खुद की जमीन होनी चाहिए व किसी अन्य की जमीन पर खेती करने वाले या फिर किराये की जमीन पर कृषि करने वाले किसान इस योजना के लिए आवेदन नहीं कर पायेंगे |

इसके अलावा प्रधानमंत्री सिंचाई योजना का लाभ लेने के लिए किसानो के पास जल संचित करने के लिए भी पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए |

लेकिन जो किसान भाई यदि किसी लीज एग्रीमेंट के आधार पर उस भूमि पर खेती कर रहे है वो इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है इसके साथ है लीज एग्रीमेंट कम से कम सात साल पुराना होना चाहिए|

सहकारी कम्पनी या कोई ट्रस्ट भी इस योजना के लिए आवेदन के पात्र माने जायेंगे |

देश का हर मूल भारत निवासी किसान इस योजना के लिए आवेदन कर पायेगा |

कृषि सिंचाई योजना के लिए ज़रूरी दस्तावेज़

यदि आप भी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते है तो आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए

कृषि भूमि के कागजात व उसकी जमाबंदी

राशन कार्ड , पहचान पत्र

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ
  • जाती प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता बुक
  • आवेदन कर्ता का आधार कार्ड जो बैंक अकाउंट से सलिंगन हो अगर नहीं आपका बैंक अकाउंट आपके आधार कार्ड से संलिग्न नहीं हो तो आप अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेण्टर या बैंक ब्रांच में जाकर संपर्क कर सकते है

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लिए आवेदन कैसे करे

चूंकि यह योजना देश के समस्त किसानो के लिए चलायी जा रही है इसलिए इस योजना को केंद्र व राज्य सरकार के आपसी सहयोग से संचालित किया जा रहा है तो जो भी किसान भाई पीएम सिंचाई योजन के लिए आवेदन करने के इच्छुक है वो राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इस योजना के लिए आवेदन कर पायेंग | आप बस गूगल में अपने राज्य के नाम के साथ पीएम सिंचाई योजना लिखकर सर्च करें| आपको आपके राज्य की ऑफिसियल वेबसाइट मिल जायेगी उसके बाद वेबसाइट पर जाकर पीएम सिंचाई योजना का आवेदन पत्र भरकर सबमिट कर दे | आवेदन पत्र के सफलतापूर्वक भरे जाने की सूचना आपको आपके ईमेल या फ़ोन नंबर पर मिल जायेगी

कृषि सिंचाई योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का मकसद

इस योजना को देश में कृषि के विकास को बढ़ावा देने के लिहाज से शुरू किया गया था ताकि देश में होने वाले किसानो के आत्महत्या जैसे केसों में कमी लायी जा सके हमारे ही देश के सैकड़ो किसान हर साल अपने खेतो में सूखा पड़ जाने की वजह से अपने प्राण त्याग देते है और घर के मुखिया किसान के जाने के बाद उनके परिवार का हाल पूछने वाला भी कोई नहीं होता है इन्ही तथ्यों को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार ने मोदीजी की नेतृत्व में इस योजना को शुरू किया ताकि देश के अन्नदाताओं को खेती बाड़ी के खातिर पानी की व्यवस्था के लिए किसी और पर निर्भर ना रहना पड़े यदि देश का किसान सिंचाई कर पायेगा तो देश का चहुमुखी विकास होगा क्योकि भारत हमेशा से ही कृषि प्रधान देश रहा है और आज भी देश की 40% से ज्यादा जनता कृषि करके है अपना पेट पालती है लेकिन प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के आ जाने से किसानो की दशा में बहुत सुधार हुआ है सिंचाई योजना किसानो के लिए किसी वरदान से कम नहीं है इसके साथ इस योजना से देश की अर्थव्यवस्था के पहियों को भी गति मिलेगी

कृषि सिंचाई योजना की कुछ मतवपूर्ण बिंदु

क्योकि इस योजना में केंद्र व राज्य दोनों सरकार का योगदान है इसलिए केंद्र सरकार इसमें 75% आर्थिक सहयोग राज्य सरकार को भेजेगी और राज्य सरकार अपनी तरफ से जनता के लिए इसमें 25% राशि का योगदान करेगी

इस योजना के आ जाने से सिचाई के कार्य में एकरूपता दिखाई देगी इसके साथ साथ ही सही प्रसिक्षण के प्राप्त हो जाने से किसान पानी के अप्वयय को कम करेंगे और नयी तकनीक को सीख जाने से वो बेहतर कृषि कार्य को संपादित कर पायेंग जिससे कि अधिकतम फसल उत्पादन होगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *