दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल, Delhi Bhulekh Khasra Khatauni 2021 in Hindi

By | January 19, 2021

दिल्ली भूलेख ऑनलाइन खतौनी नकल | Delhi Bhulekh in Hindi | delhi bhulekh khatauni|delhi bhulekh online|delhi bhulekh | ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल | Delhi Bhulekh Khasra Khatauni In Hindi | दिल्ली भूलेख

दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल 2021:- केंद्र सरकार के राजस्व विभाग ने सभी भूमि मालिको ने नाम एक ही वेब पोर्टल पर अपलोड किये है ताकि जमीनों के सम्बन्ध में होने वाले विवाद को कम किया जा सके और जमीन के मालिको के नाम व इसका सारा विवरण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध रहे.

Delhi Bhulekh Online Khasra Khatauni

Delhi Bhulekh Online Khasra Khatauni

जिससे कोई भी नागरिक जब चाहे अपनी जमीन के सम्बन्ध में पूरी जानकारी बिना राजस्व विभाग के दफ्तर में जाए ही पता कर सके, भू लेख पोर्टल पर यह जानकारी हमेशा उपलब्ध रहेगी जिससे कि जब भी किसी व्यक्ति को अपनी जमीन की पावती या भूलेख देखना होगा वो सीधे ही इस वेब पोर्टल पर जाकर सारे रिकॉर्ड आसानी से चेक कर पायेगा |

दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल

दोस्तों हमारे देश में डिजिटलकरण तेज़ी के साथ हो रहा है, वर्तमान में बढ़ रहे डिजिटलकरण के साथ दिल्ली सरकार ने भी अपने भूलेख ऑनलाइन कर दिए है, जिसके माध्यम से अब कोई भी वर्ष 2021 के लिए दिल्ली में अपने क्षेत्र में भूमि रिकॉर्ड के संबंध की जांच ऑनलाइन कर सकते है। इस पोस्ट के माध्यम से आज हम वर्ष 2021 के लिए दिल्ली Bhulekh Khasra Khatauni आदि के बारे में जानकारी देने वाले है. की किस प्रकार आप अपनी भूमि के रिकॉर्ड को ऑनलाइन देख सकते है. तो इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े.

Delhi Bhulekh Khasra Khatauni 2021

दिल्ली भूलेख पोर्टल को संबंधित अधिकारियों द्वारा दिल्ली के पुरे क्षेत्र में पड़ी सभी जमीनों की पावती लेने के लिये विकसित किया गया है। पहले तो दिल्ली सरकार ने राज्य की सभी संपत्तियों की सभी पावती को हार्डकॉपी के रूप में रखा गया था, पर अब सभी रिकॉर्ड को एक सॉफ्ट कॉपी में रखा गया है, ताकि यह आम जनता के लिये एक पारदर्शी प्रक्रिया हो और दिल्ली भूलेख के रिकॉर्ड्स को कोई भी कभी भी कही से किसी भी समय किसी भी बिंदु पर एक्सेस कर सके.

दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी के लाभ

यहाँ पर हर किसी के रिकॉर्ड सुरक्षित रहते है और कागजात के किसी तरह के काटने फटने या पुराने हो जाने का भी कोई डर नही रहता है क्योकि यहाँ डाटा क्लाउड स्टोरेज में सेव रहता है

इस वेब पोर्टल के आ जाने से आप कहीं भी बैठकर अपनी भूलेख संबंधी सूचनाओं को देख सकते है उसके लिए आपको बार राजस्व विभाग के दफ्तर नहीं जाना पडेगा जिससे आपका पैसा व समय दोनों की बचत होगी |

यदि आपको अपने भूमी के लेख में जानकारी जोड़नी या हटानी है तो उसके लिए भी आपको कोई लम्बी चौड़ी प्रक्रिया से गुजरना नहीं पडेगा | आप अपने भूलेखो को अपडेट भी घर बैठे ही कर पायेंगे |

ऑनलाइन वेब पोर्टल पर भू लेख दिखाकर ही आप किसी भी बैंक से खेती या अन्य कार्य हेतु ऋण भी प्राप्त कर सकते है |

दिल्ली भू –लेख क्या है ?

भू लेख का तात्पर्य है जमीन से जुडी जानकारी लिखित रूप में होना जिससे कोई व्यकित उस पर अपना मालिकाना हक़ जमा सके, भूलेख को अलग अलग नामो से पुकारा जाता है खेत का नक्शा, भूमि अभिलेख, जमीन का ब्योरा व जमीन की जमाबंदी, खसरा इत्यादि नामो से जाना जाता है यदि कोई ऑफलाइन अपने जमीन या खेत का विवरण पाना चाहे तो अपने स्थानीय पटवारी से संपर्क कर सकता है पटवारी के पास आपकी भूमि का पूरा ब्यौरा मिल जाएगा |

दिल्ली भूलेख – भूमि के रिकॉर्ड को ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया (Online ROR Report Delhi Bhulekh)

इसके लिए आपको सबसे पहले राजस्व विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट https://doris.delhigovt.nic.in/menu.aspx   पर विजिट करना होगा | उसके बाद होम पेज के ऊपर आप जब जायेंगे तो आपको जिला वाइज लिस्ट भूलेख का आप्शन दिखाई देगा,

Delhi Bhulekh

Delhi Bhulekh

आपको इस आप्शन पर क्लिक करना है उसके दाहिनी तरफ रिकॉर्ड आप्शन का विकल्प मिलगा उस पर जब आप क्लिक करेंगे तो आपके सामने एक आवेदन पत्र खुल जाएगा जिसमे आपको अपनी जानकारी जैसे कि गाव, जिला इत्यादी की जानकरी भरनी होगी

Delhi Bhulekh

Delhi Bhulekh

उसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा वो फिर आपको अपना वार्ड संख्या व ब्लाक उस लिस्ट में सर्च करना है फिर ये वेब पोर्टल आपको अपने वार्ड की सभी जमीनों के मालिको की लिस्ट दिखा देगा जिसमे यदि आपकी जमीन के भू लेख मौजूद है तो आप अपने नाम पर क्लिक करके उस भूलेख को डाउन करे और फिर उसका प्रिंट आउट निकल सकते है और उस जमीन पर अपना हक़ जाता सकते है और जहां कही भी इस भू लेख की आवश्यकता पड़े आप आसानी से इसे कहीं भी बैठकर कम्पूटर के माध्यम से प्राप्त कर सकते है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *