Sukanya Yojana, 2022 में हुए बड़े बदलाव, जानें कैसे निकाल सकते हैं समय से पहले अपने पैसे

By | June 4, 2022

Sukanya Yojana, 2022:- दोस्तों देश के अन्दर केंद्र सरकार और सभी राज्य सरकारों द्वारा समय समय पर जनता के लिए बहुत सारी जन कल्याणकारी योजनाये चलाई जाती है | इन सभी योजनाओ का मुख्य उद्देश्य आम जनता को लाभ पहचाना होता है | ऐसी ही एक योजना को हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू किया गया था | जिसका नाम है Sukanya Samriddhi Yojana!

येदी आप के घर में कोई कन्या है तो आप अपनी बेटी के उज्जवल भविष्य के लिए उसके नाम पर सुकन्या समृद्धि योजना के तहत पोस्ट ऑफिस में उसका अकाउंट खुलवा सकते है | इस योजना में निवेश करके आप अपनी बेटी की शिक्षा और शादी के लिए अच्छा ख़ासा फंड तैयार कर सकते हैं! इस राशी की आवश्यकता आप को अपनी बेटी की शादी और अच्छी शिक्षा के लिए पड़ सकती है |

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आप को सुकन्या समृद्धि योजना के सभी नियमों और योजना में हुए बदलावों के बारे में विस्तार से जानकारी देगे | और हम आप को बतायेगे की किस तरह आप इस योजना में निवेश करके आप अपनी बेटियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए अच्छा ख़ासा पैसा तैयार कर सकते हैं! इस पोस्ट में हम आप को सुकन्या समृद्धि योजना में हुए बदलावों और नियमो की पूरी जानकारी देगे तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े |

Sukanya Yojana, 2022

Sukanya Yojana, 2022

सुकन्या समृद्धि योजना की विशेषताएं

  • भारत सरकार द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उदेश्य कन्याओ के कल्याण और विकास को बढ़ावा देना है |
  • इस योजना के तहत 10 वर्ष तक की आयु की सभी कन्याओ का सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोला जा सकता है | एक निवासी नैसर्गिक कानूनी अभिभावक की ओर से भी कन्या के नाम पर खाता खोला जा सकता है!
  • इस योजना के तहत एक परिवार के अन्दर अधिकतम 2 कन्याओं के नाम पर खाता खोला जा सकता है! और येदी जुडवा कन्याओं के जन्म जैसी परिस्थिति में 3 कन्याओं का सुकन्या! समृद्धि योजना के तहत खाता खोला जा सकता है |
  • सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज की बात करे तो इस योजना के तहत ब्याज दर 7.6% की दर से वार्षिक आधार पर देय है!
  • इस योजना के तहत कन्या का खाता खोलने पर इस योजना के पूर्ण लाभ लेने के लिए खाता खोलने से लेकर 15 वर्षों तक योजना का प्रीमियम जमा करना अनिवार्य है!
  • Sukanya Samriddhi Yojana के तहत किया गया निवेश आयकर अधिनिकम 80 C के अंतर्गत टैक्स में छूट का लाभ दिलाता है!
    इस योजना के द्वारा मिलने वाला ब्याज पूरी तरह से कर मुक्त है! यानि की इस योजना से मिलने वाले ब्याज पर आपको किसी प्रकार का कर नही देना होगा |

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

यहा हम आप को सुकन्या समृद्धि योजना तहत खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेजों जानकारी दे रहे है | अगर आप इस योजना के तहत अपनी बेटियों का खाता खुलवाना की सोच रहे है | तो आप को निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी |

  • कन्या का जन्म प्रमाण पत्र!
  • माता पिता या अभिभावक का आवासीय और पहचान प्रमाण!
  • जुड़वा बेटियों के मामले में चिकित्सा प्रमाण पत्र!
  • कन्या का आधार कार्ड (ऑप्शनल)!

सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़े नए नियम

  • आप को बता दे की आप अपनी अधिकतम 10 वर्ष तक आयु की बेटी के नाम पर अपने नजदीकी किसी पोस्ट ऑफिस या बैंक में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवा सकते है |
  • अगर आप अपनी बेटी का खाता सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाते है तो आप को न्यूनतम 250 रूपये का प्रतिवर्ष निवेश करना अनिवार्य होता है!
  • साथ ही साथ आप इस योजना में अधिकतम निवेश 1.50 लाख प्रतिवर्ष तक कर सकते हैं!
  • आप के द्वारा इस योजना के अंतर्गत किया जाने वाला निवेश कर मुक्त होगा | जिस पर आप को किसी भी प्रकार का टेक्स नहीं देना होगा |
  • इस योजना के अंतर्गत जो खाते बंद हो गये है उन्हें 50 रूपये पैनेल्टी शुल्क देकर पुनः चालू कराया जा सकता है!
  • इस योजना में खुलवाए गये खाते कन्या की उम्र 21 वर्ष पूर्ण होने पर ही परिपक्व मेच्योर माना जाएगा! जबकि खाते में पैसे जमा करके की लिमिट 15 वर्ष है!

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जमा पैसे निकासी करने के नियम

अगर आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जमा राशी को निकलना चाहते है तो आप को योजना के अंतर्गत लागू कुछ नियम एवं शर्तों के अनुसार ही निकासी कर सकते हैं!

  • बेटी के हाई स्कूल पास करने अथवा 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर ही आप इस योजना से पैसे निकाल सकते है |
  • इस योजना में आप 21 वर्ष से पूर्व आप आंशिक अथवा 50% तक की निकासी 18 वर्ष के बाद अपनी बेटी की उच्च शिक्षा के लिए खर्च कर सकते है |
  • इस योजना में आप जमा राशी की निकाशी एक साथ अथवा 5 बार में निकाल सकते हैं!
  • जमा राशी निकलने के लिए आप आहरण फॉर्म भरकर जमा करना पड़ता है जिसके बाद पैसा आपको दे दिया जाता है!

5 Big Changes In Sukanya Yojana

अकाउंट नहीं होगा डिफ़ॉल्ट
पहले अगर आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाए गये खातो में प्रीमियम का भुगतान करना छोड़ देते या भूल जाते तो ऐसी परिस्थिति में खाते में लगातार प्रीमियम की राशी जमा नही होने की वजह से उस खाते को डिफ़ॉल्ट मान लिया जाता था! जिसे बाद उस अकाउंट को लगातार चालू रखने के लिए पैनेल्टी देकर शुरू कराना पड़ता था! लेकिन अब नये नियमो के अनुसार सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाए गये किसी भी खाते को डिफ़ॉल्ट नहीं किया जायेगा! इसके साथ ही साथ अब इस योजना में खुलवाए गये खातो येदी बंद हो जाते है| तब भी उस खाते में जमा राशी पर आप को सरकार द्वारा निर्धारित ब्याज खाते के परिपक्व होने तक मिलता रहेगा!

तीसरी बेटी के अकाउंट पर भी टैक्स छूट का प्रावधान
इस योजना की शुरुआत में सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत दो बेटियों के नाम पर खोले गये खातो पर ही आयकर में छूट का प्रावधान था लेकिन अब ऐसा नहीं है अब अगर आप की तीसरी बेटी का खाता भी इस योजना के तहत खोला गया है तो आप को उस अकाउंट पर भी आयकर अधिनियम की धारा 80 C के अंतर्गत टैक्स में छूट प्राप्त कर सकते हैं!

अकाउंट ऑपरेट करने के लिए 18 वर्ष आयु अब जरुरी
पहले इस योजना में खोले गये अकाउंट को ऑपरेट करने का अधिकार कन्या को 10 वर्ष की आयु पूर्ण करने के बाद कन्या को था | वही अब इस नियम में बदलाव करके कन्या की आयु 18 वर्ष पूर्ण होने पर ही कन्या को अकाउंट ऑपरेट करने का अधिकार होगा | तब तक इस अकाउंट को ऑपरेट करने का अधिकार कन्या के बिहाफ़ पर उसके माता पिता और अभिभावकों का होगा |

अकाउंट बंद कराना अब हुआ आसान
सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट बंद करना हुवा आसन:- पहले जहा इस योजना में ओपन किया गया अकाउंट केवल कन्या के मेच्योर होने अथवा! कन्या की मृत्यु हो जाने अथवा उसका एड्रेस चेंज हो जाने पर ही अकाउंट को बंद करने का नियम था! वही अब इस नियम में संशोधन किया गया है और कुछ अन्य! विशेष परिस्थितियों जैसे कि अकाउंट होल्डर के माता पिता या अभिभावक की मृत्यु हो जाने या कन्या की गंभीर बीमारी हो जाने की परिस्थिति में अकाउंट को बंद कराया जा सकता है |

समय से मिलेगा ब्याज
अब इस योजना के तहत खोले गये खातो में ब्याज को वार्षिक आधार पर चक्रिवृद्धि ब्याज लगाकर खातो में जमा किया जायेगा | सभी बेटियों के खातो में ब्याज को समय से अपडेट किया जायेगा, जिससे की भी खाताधारक को ब्याज से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होगी | वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोले गये खातो पर ब्याज 7.6% के अनुसार देय है!

सुकन्या समृद्धि योजना के अकाउंट को बंद करने की परिस्थितियां और नियम क्या है
आप को बता दे की सुकन्या समृद्धि योजना के तहत कन्या के नाम पर शुरू किये गए सुकन्या! समृद्धि अकाउंट को माता/पिता अथवा अभिभावक किन परिस्थितियों में बंद करा सकते हैं | कुछ विशेष परिस्थितियों में सुकन्या समृद्धि योजना में खुलवाए गये अकाउंट को बंद कराये जाने का प्रावधान है! जिसके लिए माता/पिता अथवा अभिभावक को अकाउंट क्लोज़र फॉर्म भरके पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में जमा कराना होगा |

  • सुकन्या समृद्धि खाता धारक कन्या की मृत्यु हो जाने पर अकाउंट को बंद किया जा सकता है!
  • कन्या को किसी जानलेवा बीमारी के होने की स्थिति में भी अकाउंट को बंद किया जा सकता है!
  • अन्य परिस्थितियों में खाता खोलने के 5 साल बाद खाते को बंद किया जा सकता है!
  • खाता बंद करने के लिए आपको अकाउंट क्लोज़र फॉर्म को फिल करना होता है!
  • अकाउंट बंद करने का अकाउंट क्लोज़र फॉर्म हमारे द्वारा उपलब्ध करा दिया गया है!

Note :– हमने आप को इस आर्टिकल के माध्यम से Sukanya Samriddhi Yojana से जुड़े नियमो और शर्तों के बदलवा के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने के पूरा प्रयास किया है | येदी आप इस योजना से जुड़ी और भी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप को सुकन्या समृद्धि योजना की ऑफिसियल वेबसाइट www.nsiindia.gov.in से और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है | अगर आप का Sukanya Samriddhi Yojana से जुदा कोई प्रश्न या सवाल है तो आप हमे निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है | हम आप के सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिस करेगे | इसी प्रकार की सरकारी योजनाओ की जानकरी प्राप्त करने के लिए हमारे Facebook Page को फोलो करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published.